×
userImage
Hello
 Home
 Dashboard
 Upload News
 My News

 News Terms & Condition
 News Copyright Policy
 Privacy Policy
 Cookies Policy
 Login
 Signup
 Home All Category
     Bollywood      Hollywood

कैप्टन इंडिया फिल्म का फर्स्ट लुक पोस्टर हुआ...

PALLAVI...
Posted : Fri/Jul 23, 2021, 07:10 AM - IST

मुम्बई / कार्तिक आर्यन स्टारर फिल्म कैप्टन इंडिया का फर्स्ट लुक पोस्टर रिलीज हुआ है। जिसमें एक्टर का एकदम नया लुक सामने आया है । यह पहला मौका होगा जब इस फिल्म के जरिए कार्तिक आर्यन कैप्टन के किरदार में नजर आएंगे। कैप्टन इंडिया फिल्म का पोस्टर फिल्म क्रिटिक तरण आदर्श ने सोशल मीडिया में शेयर किया है। उन्होंने...

More..

Latest News

More...
By  PALLAVI...
posted : Fri/Jul 16, 2021, 03:14 AM - IST

दिग्गज एक्ट्रेस... / दिल्ली / शुक्रवार को बॉलीवुड की दिग्गज एक्ट्रेस सुरेखा सीकरी का निधन हो गया है। वे 75 साल की थीं और सुबह 8.30 बजे सुरेखा ने आखिरी सांस ली।  पिछले साल सुरेखा को दूसरी बार ब्रेन स्ट्रोक पड़ा था और उसके बाद से ही वे बीमार चल रही थीं।  सुरेखा सीकरी ने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (NSD) में एक्टिंग की बारीकियां सीखीं। उन्हें तीन बार नेशनल अवॉर्ड से नवाजा गया। सुरेखा को फिल्म 'तमस', 'मम्मो' और 'बधाई हो' के लिए 3 बार नेशनल अवॉर्ड मिला था। उन्होंने कई सारी फिल्में और टीवी सीरियल्स किए लेकिन उन्हें सबसे ज्यादा पहचान टीवी सीरियल 'बालिका वधू' में उनके किरदार दादी सा ने दिलाई।   संगीत के क्षेत्र में भी नामी अवॉर्ड जीता है। साल 1989 में सुरेखा को संगीत नाटक एकेडमी अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था। दिल्ली में जन्मी अदाकारा ने अपना बचपन उत्तराखंड के कुमाऊं क्षेत्र की पहाड़ियों में गुजारा। उन्होंने उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) से अपनी स्नातक की पढ़ाई की और फिर 1968 में राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय (एनएसडी) में दाखिला लिया। 1971 में एनएसडी से पढ़ाई पूरी करने के बाद, सीकरी ने थिएटर में काम करना जारी रखा और एक दशक से अधिक समय तक ‘एनएसडी रिपर्टरी कम्पनी’ से जुड़ी रहीं। वहां, उन्होंने ‘संध्या छाया’, ‘तुगलक’ और ‘आधे अधूरे’ जैसे कई मशहूर नाटक किए।   



 39
 0

Read More

By  PALLAVI...
posted : Wed/Jul 14, 2021, 04:55 AM - IST

Mumbai / बॉलीवुड अदाकार दीया... / नई दिल्ली / दीया मिर्जा के फैंस के लिए खुशखबरी है। एक्ट्रेस ने बेटे को जन्म दिया है और इसकी जानकारी उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए दी है। दीया मिर्जा पहली बार मां बनी हैं, जबकि वैभव दूसरी बार पिता बने हैं। इस खुशखबरी के सामने आने के बाद फैंस लगातार उन्हें बधाइयां दे रहे हैं। दीया मिर्जा की फर्स्ट डिलीवरी समय से पहले हुई है, इसकी वजह से उनके बच्चे को डॉक्टर की निगरानी में रखा गया था। आईसीयू में ही उनके बेटे की देखरेख की जा रही थी। दीया मिर्जा ने अपने बेटे का नाम अव्यान आजाद रेखी रखा है।  उन्होंने लिखा-''बच्चा होने का मतलब हमेशा के लिए यह तय करना है कि आपका दिल आपके शरीर के बाहर घूम रहा है।  शादी के महीने-डेढ़ महीने बाद ही दीया ने अपनी प्रेग्नेंसी का ऐलान किया था। जब वह हनीमून के लिए मालदीव गई थीं तब उन्होंने बेबी बंप के साथ तस्वीर शेयर की थी और फैंस को इस खुशखबरी के बारे में बताया था। उस वक्त प्रेग्नेंसी का ऐलान करने पर कई लोगों ने दीया को ट्रोल करने की कोशिश की थी। वैभव से शादी के पहले दीया मिर्जा की पहली शादी अक्टूबर, 2014 में प्रोड्यूसर साहिल संघा से हुई थी।शादी के करीब 5 साल बाद ही अगस्त, 2019 में दोनों का तलाक हो गया।



 38
 0

Read More

By  PALLAVI...
posted : Thu/Jul 08, 2021, 05:21 AM - IST

Mumbai / नहीं रहे अभिनेता... / मुम्बई / बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार का निधन हो गया। 98 वर्षीय दिलीप कुमार काफी समय से बीमार चल रहे थे। उन्हें हाल ही में सांस लेने में परेशानी के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जिसके बाद उनके निधन की खबर आई। दिलीप कुमार के ऑफिशल ट्विटर हैंडल पर उनके निधन की जानकारी दी गई है। फिल्म इंडस्ट्री के लोग और उनके फैंस सोशल मीडिया पर श्रद्धांजलि दे रहे हैं।दिलीप कुमार हिंदुजा हॉस्पिटल में भर्ती थे। दिलीप कुमार की सेहत बिगड़ने के बाद उनकी पत्नी सायरा बानो सोशल मीडिया के जरिए लगातार अपडेट दे रही थीं। वहीं, इससे पहले ही भी दिलीप कुमार इसी साल  3 बार अस्पताल में भर्ती हो चुके थे। हालांकि, कुछ दिनों में ही उन्हें डिस्चार्ज भी मिल गया था।  मुंबई के हिंदुजा अस्पताल में सुबह 7:30 बजे दिलीप कुमार ने आखिरी सांस ली। दिलीप कुमार ने साल 1944 में फिल्म ज्वार भाटा से अपना बॉलीवुड डेब्यू किया था। इसके बाद वो फिल्म अंदाज, बाबुल, दीदार, आन, दाग, देवदास, आजाद, नया दौर, तराना, मधुमति, कोहिनूर, मुगल-ए-आजम, गंगा जमुना, राम और श्याम, क्रांति, शक्ति, मशाल और सौदागर जैसी फिल्मों में नजर आए। दिलीप कुमार को दादा साहेब फाल्के पुरस्कार और पद्म विभूषण जैसे कई प्रतिष्ठित पुरस्कारों से नवाजा गया।   



 50
 0

Read More

By  PALLAVI...
posted : Thu/Jul 08, 2021, 03:54 AM - IST

Mumbai / नहीं रहे कुमार... / मुम्बई / हॉरर फिल्मों के लिए मशहूर फिल्ममेकर कुमार रामसे का निधन हो गया है। उन्हें दिल का दौरा पड़ा और उनका निधन हो गया। कुमार रामसे के निधन की जानकारी उनके बेटे गोपाल ने दी। उन्होंने बताया कि कुमार रामसे ने मुंबई के हीरानंदानी स्थित अपने घर में अंतिम सांस ली। कुमार रामसे के परिवार में उनकी पत्नी शीला और तीन लबेटे राज, गोपाल और सुनील है। उनको आज सुबह साढ़े पांच बजे दिल का दौरा पड़ा। जिससे उनकी मौत हो गई। 80-90 के दशक में रामसे ब्रदर्स ने अपनी हॉरर फिल्मों से दर्शकों के बीच डर की एक नई तस्वीर पेश की थी। ऐसे में अब एक बार फिर से दर्शकों के जहन में रामसे ब्रदर्स द्वारा बनाई गई हॉरर फिल्मों की यादें ताजा हो गई है। उनकी फिल्मों को लोग काफी पसंद करते थे। रामसे ब्रदर्स की फिल्मों में  'और कौन ?', 'दहशत', 'साया', 'खोज', 'पुराना मंदिर' जैसी फिल्में शामिल है।  'साया' फिल्म में शत्रुघ्न सिन्हा नजर आए थे। तो वहीं 'खोज' मूवी में ऋषि कपूर और नसीरूद्दीन शाह एक साथ पर्दे पर दिखाई दिए थे। उनका अंतिम संस्कार करीब 12 बजे किया गया। उनकी निधन की खबर सुनने के बाद से सोशल मीडिया पर फैंस द्वारा श्रद्धांजलि देने का सिलसिला जारी है। रामसे ब्रदर्स में वो सबसे बड़े थे। फिल्म निर्माता एफ यू रामसे के बेटे कुमार रामसे कुल सात भाई थे।  रामसे भाइयों में केशु, तुलसी, करण, श्याम, गंगू और अर्जुन शामिल थे। इन भाईयों ने हॉरर फिल्म बनाई और इनका नाम ही डरावनी फिल्मों के लिए जाना जाता है।   



 48
 0

Read More

By  PALLAVI...
posted : Sat/Jul 03, 2021, 04:35 AM - IST

Mumbai / आमिर खान और किरण... / मुम्बई / बाॅलीवुड के दिग्गज एक्टर आमिर खान और उनकी पत्नी किरण राव ने तलाक ले लिया है। दोनों ने एक साझा बयान जारी कर अलग होने का फैसला किया। हालांकि वह अपने बच्चे की देखभाल एक साथ करेंगे और कारोबारी रिश्ते भी बनाए रखेंगे। उन्होंने हम दोनों अपने बेटे के लिए अच्छे माता-पिता रहेंगे और उसे अच्छा पालन देंगे। इसके साथ ही पानी फाउंडेशन और अन्य प्रोजेक्ट पर पहले की ही तरह काम करते रहेंगे। लगान के सेट पर हुई थी पहली मुलाकात 56 साल के आमिर और 47 साल की किरण राव पहली बार अभिनेता की 2001 की ब्लॉकबस्टर फिल्म "लगान" के सेट पर मिले और दिसंबर 2005 में शादी कर ली। 2011 में आमिर की पत्नी किरण ने एक बेटे को जन्म दिया जिसका नाम आजाद रखा। आमिर खान को फिल्म इंडस्ट्री में मिस्टर परफेक्शनिस्ट के तौर पर जाना जाता है। वह तकरीबन एक साल में एक ही फिल्म करते हैं और उनकी फिल्म अच्छा बिजनेस करती हैं। वहीं किरण राव ने भी फिल्मों में बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर शुरुआत की थी। लगान फिल्म में वह आशुतोष गोवारिकर के साथ असिस्टेंट डायरेक्टर थीं। लिहाजा अगर दोनों की संपत्ति की बात करें तो दोनों ही आर्थिक रूप से काफी मजबूत हैं। लेकिन आमिर और किरण की कुल प्रॉपर्टी में काफी अंतर है।  शनिवार को तलाक का एलान करते हुए बयान में लिखा गया, "इन 15 खूबसूरत वर्षों में हमने एक साथ जीवन भर के अनुभव, खुशी और हँसी साझा की है, और हमारा रिश्ता केवल विश्वास, सम्मान और प्यार में बढ़ा है। अब हम अपने जीवन में एक नया अध्याय शुरू करना चाहेंगे - अब हम पति और पत्नी के रूप में नहीं रहेंगे। लेकिन परिवार के रूप में जुड़े रहेंगे और बच्चे की एक साथ देखभाल करेंगे।'  उनके तलाक की खबर से बॉलीवुड में हड़कंप मच गया।  आमिर खान ने साल 2002 में अपनी पहली पत्नी रीना दत्ता से तलाक लिया था। उसके बाद किरण राव उनकी जिंदगी में आई थीं।  उन्होंने कहा अब हम अपने जीवन में एक नया अध्याय शुरू करना चाहेंगे।  पति-पत्नी के रूप में नहीं, बल्कि सह-माता-पिता और परिवार के रूप में हमने कुछ समय पहले एक अलग होने के प्लान को शुरू किया था। अब इस व्यवस्था को औपचारिक रूप देने में सहज महसूस कर रहे हैं। हम दोनों अलग-अलग रहने के बावजूद अपने जीवन को एक विस्तारित परिवार की तरह शेयर करेंगे। हमारे रिश्ते में निरंतर समर्थन और समझ के लिए हमारे परिवारों और दोस्तों का बहुत-बहुत धन्यवाद जिनके बिना हम यह कदम लेने में इतना सुरक्षित महसूस नहीं करते।



 87
 0

Read More

By  PALLAVI...
posted : Wed/Jun 30, 2021, 05:12 AM - IST

Mumbai / मंदिरा बेदी के पति... / नई दिल्ली / बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री और प्रेजेंटर मंदिरा बेदी के पति राज कौशल नहीं रहे। मंदिरा बेदी और राज कौशल ने 14 फरवरी 1999 में शादी कर ली थी। मंदिरा और राज कौशल की पहली मुलाकात 1996 में मुकुल आनंद के घर पर हुई थी। मंदिरा वहां ऑडिशन देने पहुंची थीं और राज, मुकुल आनंद के असिस्टेंट के रूप में काम कर रहे थे। यहीं से दोनों ने एक दूसरे को देखा और उनके प्यार की शुरुआत हुई। मंदिरा बेदी और राज कौशल के दो बेटे और एक बेटी है।  उनका बुधवार को सुबह हार्ट अटैक की वजह से निधन हो गया है। राज कौशल एक फिल्मकार थे। उन्होंने 'प्यार में कभी कभी' और 'शादी का लड्डू' जैसी फिल्मों को निर्देशन किया था। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, 'वे चिरशांति को प्राप्त हों...कुछ प्यारी यादें। और यही तुम्हारे पास बचा है..।' राज कौशल को बुधवार को करीब सुबह 4.30 बजे घर में दिल का दौरा पड़ा था।  बॉलीवुड के कई सितारों ने राज कौशल के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्हें सोशल मीडिया पर याद किया है और उन्हें श्रद्धांजलि दी है। फिल्मकार ओनिर ने ट्विटर पर राज कौशल के लिए लिखा, 'बहुत जल्द चले गए, हमने फिल्म निर्माता राज कौशल को आज सुबह खो दिया है। बहुत दुख की बात है। वह मेरी पहली फिल्म माई ब्रदर निखिल के निर्माताओं में से एक थे। उन कुछ लोगों में से एक जिन्होंने हमारी दृष्टि में विश्वास किया और हमारा समर्थन किया। उनकी आत्मा के लिए प्रार्थना।'अभिनेत्री टिस्का चोपड़ा ने ट्विटर पर लिखा, 'यकीन नहीं होता राज कौशल अब हमारे बीच नहीं रहे..यह चौंकाने वाला। मेरा दिल मंदिरा बेदी और उसके दो प्यारे बच्चे के लिए टूट रहा है। आपकी आत्मा को शांति मिले हमारे खुश मुस्कुराते हुए राज..आपकी कोमल आत्मा को याद करेंगे।' टीवी अभिनेता गौरव चोपड़ा ने भी राज कौशल को याद किया है।   



 98
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Mon/Jun 28, 2021, 03:25 AM - IST

जया बच्चन डिजिटल... / दिल्ली / अभिषेक बच्चन की फिल्म और बेव सीरीज ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज हो चुकी हैं। वहीं अमिताभ बच्चन की ‘गुलाबो-सिताबो’ भी ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज हुई थी और अब जया बच्चन भी डिजिटल डेब्यू के लिए तैयार हैं। जया बच्चन ‘सदाबहार के साथ डिजिटल प्लेटफॉर्म पर धमाल मचाने को तैयार हैं। जया बच्चन ने इस वेब सीरीज की शूटिंग फरवरी में ही शुरू कर दी थी। लेकिन, कोरोना की दूसरी लहर के बाद शूटिंग रोक दी गई थी। अब हालात ठीक हो रहे हैं तो वेब सीरीज की शूटिंग भी दोबारा शुरू हो गई है। ‘सदाबहार’ की टीम ने इस हफ्ते ही 2 सीक्वेंस की शूटिंग की ही। कोरोना प्रोटोकॉल्स को ध्यान में रखते हुए शो की शूटिंग बायो बबल में यूनिट के सिर्फ 50 मेंबर्स के बीच ही की गई। शूट के दौरान सेफ्टी का भी  पूरा ध्यान रखा गया। अभी इस बारे में कोई जानकारी नहीं है कि ये सीरीज किस सब्जेट पर बेस्ड है और इसमें जया बच्चन के अलावा और कौनसे एक्टर्स हैं। हां, लेकिन इसमें जया बच्चन का किरदार काफी अहम है। जया बच्चन 5 साल बाद वापस स्क्रीन पर नजर आने वाली हैं। वह लास्ट अर्जुन कपूर और करीना कपूर की फिल्म कि और का  Ki and Ka में नजर आई थीं जो साल 2016 में रिलीज हुई थी। हालांकि इसमें भी उनका गेस्ट अपीयरेंस था। शो की शूटिंग की बायो बबल फोर्मेट में हुई है। यूनिट के 50 मेंबर्स ने शूट किया। शो की शूटिंग रियल लोकेशन पर हो रही है, इसलिए मेकर्स सभी जरूरी सावधानियां और सुरक्षात्मक नियमों का पालन कर रहे हैं।  



 43
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Fri/Jun 18, 2021, 10:14 AM - IST

Mumbai / 32 साल में पहली बार... / मुम्बई / सलमान खान की फिल्म ‘राधे: योर मोस्ट वॉन्टेड भाई’ को उनके फैंस ने जबरदस्त प्रतिक्रिया दी। अब उनकी अगली फिल्म पर निगाहें टिक गई हैं। अपने 32 साल के करियर में सलमान खान ने अलग-अलग विषयों पर फिल्में की हैं। अब पहली बार वो एक बायोपिक फिल्म करने जा रहे हैं| सलमान खान ने निर्देशक राजकुमार गुप्ता के साथ हाथ मिलाया है। एक्शन थ्रिलर बेस्ड यह फिल्म भारतीय इतिहास की एक सच्ची घटना से प्रेरित है। सलमान खान मशहूर भारतीय जासूस रवींद्र कौशिक की भूमिका निभाएंगे, जिन्हें ब्लैक टाइगर के नाम से जाना जाता था। यह एक अविश्वसनीय कहानी है फिल्ममेकर साजिद नाडियाडवाला के साथ काम खत्म होने के बाद सलमान खान की यह फिल्म फ्लोर पर जाएगी।  उन्हें भारत का अब तक का सबसे अच्छा जासूस माना जाता है। राजकुमार गुप्ता पिछले पांच सालों से उनकी जिंदगी पर रिसर्च कर रहे हैं और आखिरकार अब उन्होंने इसे एक कहानी का रूप दे दिया है जो रवींद्र कौशिक की उपलब्धियों और विरासत के साथ न्याय करती है। उन्होंने सलमान खान को नैरेशन दिया है वो इसे करने के लिए राजी हैं।



 78
 1

Read More

By  Public Reporter
posted : Wed/Jun 16, 2021, 10:13 AM - IST

New Delhi / अभिनेता मिथुन... / नई दिल्ली/ पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी  नेता मिथुन चक्रवर्ती के भड़काऊ भाषण मामले में कोलकाता पुलिस बुधवार को 45 मिनट तक की पूछताछ । ये पूछताछ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए की गई। मिथुन चक्रवर्ती पर आरोप है कि उन्होंने अपने भाषण में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ गंदी और असंवैधानिक भाषा का इस्तेमाल किया था। भड़काऊ बयान देने पर हुई थी एफआईआर दर्ज  7 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में मिथुन चक्रवर्ती ने भाजपा का दामन थामा था। भाजपा में शामिल होने के बाद मिथुन चक्रवर्ती ने  ममता के खिलाफ एक के बाद एक बयान देकर राज्य की राजनीति गरमा दी थी। उनकी टिप्पणी पर टीएमसी ने थाने में भड़काऊ बयान देने का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज करवायी थी। मिथुन की याचिका के बाद कलकत्ता हाईकोर्ट ने चक्रवर्ती को निर्देश दिया कि वह राज्य को अपना ई-मेल पता दें, ताकि कथित तौर पर हिंसा भड़काने को लेकर दर्ज कराई गई शिकायत के सिलसिले में वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए वह पूछताछ में शामिल हो सकें। बीजेपी नेता की याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने जांच अधिकारी को भी निर्देश दिया था कि, वह मिथुन चक्रवर्ती को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए उपस्थित होने के लिए तर्कसंगत समय दें। न्यायमूर्ति तीर्थंकर घोष ने याचिकाकार्ता व अभियोजन पक्ष के अनुरोध पर शुक्रवार को मामले की अगली सुनवाई 18 जून तक के लिए स्थगित कर दी।



 71
 0

Read More

papular story

More...
By  Newssyn Team
posted : Tue/Oct 27, 2020, 03:18 AM - IST

अपने रिसेप्शन में... / पंजाब, सिंगर नेहा कक्कड़ और रोहनप्रीत ने 24 अक्टूबर को शादी कर ली है, यह शादी दिल्ली के गुरुद्वारे में हुई जिसकी विडियो और तस्वीरें शोसल मीडिया में खूब वाइरल हो रही है। बता दें कि शादी के कुछ दिन पहले ही नेहा-रोहनप्रीत का म्यूजिक सिंगल नेहु डा ब्याज भी रिलीज हुआ है। शादी के रस्मों में से एक अनोखा अंगूठी रस्म का विडियो भी शोसल मीडिया में बना हुआ है जिसमें नेहा कक्कड़ ये रस्म जीतकर चिल्लाती हुई नज़र आईं। नेहा का उनके ससुराल यानि रोहनप्रीत के घर पर जोरदार स्वागत हुआ, साथ ही कपल ने गाना रस्म भी किया। नेहा कक्कड़ और रोहनप्रीत ने सोमवार को रिसेप्शन पार्टी पंजाब में दी, जहां कपल ने पंजाबी गानों पर डांस भी किया। इसी के साथ वेडिंग रिसेप्शन में नेहा व्हाइट लहंगे में बहुत ही खूबसूरत लूक में नज़र आयीं साथ ही डायमंड एवं ग्रीन एमराल्ड से जाड़ा नेकपीस, ईयरिंग और हाथों में रिंग, कंगन व माथे पर सिंदूर भी उन पर खूब जँच रहे थे। उनके वेडिंग रिसेप्शन में प्रसिद्ध पंजाबी गायक Mankirt Aulakhभी पहुंचे। नेहा-रोहनप्रीत की इस जोड़ी को शोसल मीडिया पर खूब सराहा जा रहा है एवं फैंस के बीच उनकी शादी और रिसेप्शन की ये विडियो खूब वाइरल हो रहा है।  



 694
 1

Read More

By  Avinash...
posted : Sun/Jan 17, 2021, 01:22 AM - IST

Bilāspur / कुत्सित मानसिकता,... / कोरोना महामारी के सादृश्य ही वेब सीरीज का संक्रमण भी लॉकडाउन के समय भरपूर फैला। वेब सीरीज की कथा कुछ भी हो लेकिन उसमें हिंदुओं देवी, देवताओं और उनके आराध्यों का अपमान करना एक फैशन सा बनता जा रहा है। अभी हाल ही में रिलीज हुई अमेज़न प्राइम की वेब सीरीज तांडव में भगवान श्रीराम और भगवान शिव का अपमान किया गया। ये वेब सीरीज एक ऐसे समय में आई है जब अयोध्या में भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर बनने के लिए निधि समर्पण अभियान चल रहा है। ऐसे में इस प्रसंग को मज़ाक बनाते हुए ‘तांडव’ में बहुत ही असभ्य ढंग से प्रस्तुत किया गया है। ये हाल किसी एक वेब सीरीज का नहीं है ऐसी बहुत सी वेब सीरीज हैं जो फैशन के तौर पर हिन्दू देवी देवताओं और उनके आराध्यों का अपमान करने से नहीं चुकती हैं। क्या किसी अन्य धर्म के खिलाफ ऐसा होता है? जवाब मिलेगा नहीं। तांडव वेब सीरीज पूरी तरह से प्रोपेगैंडा का अगला कदम मीडिया फ्रेमिंग की तर्ज पर काम करता नजर आता है। वेब सीरीज तांडव को अली अब्बास जफर ने निर्देशित किया है। इस वेब सीरीज में पूरी तरह से हिन्दू धर्म के रिश्ते नातों को भी तार-तार करते दिखाया है जिसमें सैफ अली खान सत्ता पाने के लिए अपने पिता की हत्या कर देता है। तो वहीं मुस्लिम समुदाय को डरा कुचला और शोषित दिखाने का भरपूर प्रयास किया गया है। आज पूरा विश्व और हिन्दू समाज मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के आदर्शों को उत्कृष्ट मानते हुए उनके भव्य मंदिर निर्माण के लिए प्रगतिशील है। भारत वह देश हैं जहां पिता की आज्ञा पालन के लिए भगवान श्रीराम चौदह वर्ष का वनवास हर्ष के साथ स्वीकार कर लेते हैं तो वहीं जफर जैसे कुछ निर्देशक मुगलों और तुर्कों की सत्ता लोलुपता के लिए पिता की हत्या को हिन्दू समाज के माथे पर आरोपित करने का प्रयास करते नजर आते हैं। हिन्दू समाज में वीर शिवाजी, महारणा प्रताप जैसे प्रतापी वीर हुआ करते हैं जो लालच तो दूर अपनी आन के लिए भी अपनी जान देने से पीछे नहीं हटते। तांडव वेब सीरीज हिन्दू धर्म के प्रति घृणा भरने का एक कुत्सित प्रयास भर नजर आता है। वेब सीरीज में सवर्ण-दलित, हिन्दू-मुसलमान, क्षेत्रवाद, अर्बन नक्सलवाद जैसे प्रोपेगैंडा को चलाने का प्रयास भी किया गया है। वेब सीरीज में भारत के टुकड़े-टुकड़े करने वाले गैंग का भी महिमा मंडन किया गया है। इसमें पूरी मंशा के साथ आजादी आजादी के नारे लगवाते समय धीरे से मनुवाद और ब्राह्मणवाद से आजादी के नारे भी मंशापूर्ण ढंग से लगवाए जाते हैं। वेब सीरीज के ही एक पात्र ने वामपंथियों की मनगढ़ंत कहानी ‘सदियों से अत्याचार’ को प्रमाणित करने का असफल प्रयास भी किया। पूरी तांडव वेब सीरीज में घृणा का जहर और हिंदुओं के बीच दीवार खींचने का एक प्रयास भर है। तांडव में मोहम्मद जीशान को भगवान शिव का छद्म वेश बनाकर उनको अपमानित करने का काम वेब सीरीज करती हुई दिखाई पड़ती है। वेब सीरीज में प्रधानमंत्री मोदी के नए भारत की संकल्पना को भी मनगढ़ंत कहानियों के दम पर खारिज करने का प्रयास किया गया है। वर्तमान परिदृश्य और कहानी की पटकथा को देखते हुए इसको रिलीज करने की टाइमिंग पर भी सवाल उठता है। कहानी में मुसलमानों को किसान दिखाया जाता है और ये स्थापित करने का प्रयास किया जाता है कि ये ही हैं जो देश का पेट भरते हैं और इन्हें आतंकवादी कहकर सरकार गोली मार देती है। जबकि अगर आंकड़ों की बात करें तो समुदाय विशेष की किसानी करने वाली आबादी भी देश में न के बराबर है। वेब सीरीज अप्रत्यक्ष रूप से आतंकवादियो के मारे जाने पर भी सवाल खड़े करते हुए एक समुदाय विशेष का बचाव करते हुए नजर आती है। वेब सीरीज तांडव षड्यंत्र और वैमनस्यता का एक मिश्रण है जिसमें हिन्दू धर्म और उसके मूल्यों को आलोचनात्मक ढंग से प्रस्तुत किया गया है। भारत में लगभग वेब सीरीज हिन्दू धर्म और उनके आराध्यों को निशाना बनाकर बनाई जाती है। इसके निर्मता और निर्देशक का एक बड़ा हिस्सा वामपंथी विचारों को मनाने वाले कथित नास्तिक होते हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या एक नास्तिक या कथित सेक्युलर को ये अधिकार प्राप्त है कि वो हिन्दू धर्म को अपमानित करने का कार्य करे? क्या इस तरह की वेब सीरीज पर सरकार को बैन नहीं लगाना चाहिए?     लेखक अविनाश त्रिपाठी एम. ए., एम. फिल., पी-एच.डी. शोधार्थी पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग



 453
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Fri/Feb 12, 2021, 06:18 AM - IST

Azamgarh / सत्यमानो फिल्म... / किसी चीज को पाने की इच्छा शक्ति हो तो बड़ी से बड़ी परेशानियाँ दम तोड़ देती है। लघु फ़िल्म “कोंपल” की कहानी इसी विषय को अपने में समेटे है। हाल में ही आजमगढ़ जिले के हाफिजपुर में सत्यमानो फिल्म प्रोडक्शन के अंतर्गत स्थानीय कलाकारों द्वारा इस फ़िल्म का फिल्मांकन किया गया। फिल्‍म के निर्माता अशेष सिंह, निर्देशक एवं लेखक राम सूरत, सिनेमैटोग्राफी पंकज कुमार, कार्यकारी निर्माता ब्रिजेश कुमार सिंह एवं शफ़कत रफ़ीक हैं। निर्देशक राम सूरत इससे पूर्व “हल” और “अज़ीज़” लघु फ़िल्मों का निर्माण कर चुके हैं। जो कई राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्म समारोहों में प्रदर्शित एवं सम्मानित की गई है। कोंपल फ़िल्म में मुख्य कलाकार की भूमिका में शौर्य सिंह, प्रमिता सिंह, प्रांजल गुप्ता, अनुपमा सिंह और प्रभु नारायण पांडेय (प्रेमी) ने भूमिका निभाई है।



 528
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Thu/Apr 01, 2021, 01:35 AM - IST

New Delhi / सुपरस्टार रजनीकांत... / नई दिल्ली/केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने गुरुवार को दादा साहेब फाल्के पुरस्कार का ऐलान किया इस बार दादा साहेब फाल्के पुरस्कार के लिए साऊथ के सुपरस्टार रजनीकांत को नवाजा जायेगा. स्टोरी हाईलाइट रजनीकांत को किया जाएगा  दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित रजनीकांत का जलवा पिछले 50 साल से कायम केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने गुरुवार को दादा साहेब फाल्के पुरस्कार का ऐलान किया की इस बार दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सुपरस्टार रजनीकांत को नवाजा जाएगा. सिनेमा की दुनिया मे पिछले 5 दशक से कर रहे राज रजनीकांत प्रकाश जावड़ेकर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि हमे खुशी है कि देश के सभी भागों से फिल्मकार,अभिनेता,अभिनेत्री,गायक संगीतकार सभी लोगो  को समय समय पर दादा साहेब फाल्के पुरस्कार मिला है  आज इस साल का दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से महान नायक रजनीकांत को घोषित करते हुए हमें बहुत खुशी है रजनीकांत पिछले 5 दशक से सिनेमा के दुनिया पर राज कर रहे है और साथ ही लोगो का मनोरंजन कर रहे है यही  कारण है कि इस बार दादा साहेब फाल्के की ज्यूरी ने रजनीकांत को ये पुरस्कार देने का फैसला लिया गया है 5 लोगो की ज्यूरी से एकमत फैसला इस साल ये सिलेक्शन ज्यूरी ने किया है इस ज्यूरी ने आशा भोसले,मोहनलाल,विश्वजीत चटर्जी, शंकर महादेवन और शुभाष घई इन पांचो को ज्यूरी ने बैठक करके एक राय  से महानायक रजनीकांत को दादा साहेब फाल्के पुरस्कार की शिफारिश की.प्रकाश जावड़ेकर कर ने आगे और कहा कि रजनीकांत अपनी प्रतिभा मेहनत और लगन से ये स्थान लोगो के दिलो में आपने स्तान बना लिया है और उन्होंने यह भी कहा कि यह उनका गौरव है दादा साहेब फाल्के पुरस्कार  इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि दादा  साहेब फाल्के ने अपनी पहली सिनेमा 1913 में राजा हरीशचंद्र बनाया था राजा हरीशचंद्र की यम फ़िल्म पहली चित्रपट महर्षि कहलाने लगे और  उसके बाद दादा साहेब फाल्के मृत्यु के बाद यह  पुरस्कार उनके नाम से रखा गया  रजनीकांत की यह फेमस फिल्मे  रजनीकांत ने अपने हर किरदार में जान डाल देते है एक से एक बधकर फिल्मो में काम किया है साउथ से लेकर बॉलीवुड तक रजनीकांत ने आपने किरदार से उनका जलवा अभी तक कायम है रजनीकांत की फेमस फिल्मो की बात करे तो  दरबार, 2.0 द रोबोट,त्यागी चालबाज, कबाली, दोस्ती दुश्मनी, इंसाफ कौन करेगा, अंधा कानून के सारे फिल्मो में काम किया है  और आपने हर किरदार में जान डाल देते है.



 183
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Mon/Apr 05, 2021, 12:39 PM - IST

Mumbai / अक्षय कुमार को हुआ... / महाराष्ट्र/पवई बॉलीवुड के सुपरस्टार अक्षय कुमार को फैंस बीते दिन से उनकी सेहत को  लेकर चिंतित थे और ऐसी भी एक परेशान करने वाली खबर सामने आई है अक्षय कुमार COVID-19 पॉजिटिव पाए जाने के बाद उनकी हालत बिघड गई है उन्हें हॉस्पिटल में एडमिट किया गया। इस हॉस्पिटल में है अक्षय कुमार खबर के अनुसार सोमवार की सुबह अक्षय कुमार को पवई स्थित हीरानंदानी हॉस्पिटल एडमिट किया गया है  अक्षय कुमार ने अपनी कोरोना संक्रमित होने की खबर ट्विटर से दी है उन्होंने  कहा कि आपकी शुभकामनाएं और प्राथना के लिए शुक्रिया है ठीक हु सावधानी बरकतें हुए मेडिकल एडवाइस मेले के लिए एडमिट हुआ हु उम्मीद है जल्द ही वापस घर वापस आऊंगा आपन अपना ध्यान रखना COVID-19 रिपोर्ट की जानकारी फैंस की शेअर की थी उन्होंने शोसल मीडिया पर एक पोस्ट लिखी थी मैं यह सूचित करना चाहता हु की मेरी  COVID-19 टेस्ट पॉजिटिव आई है सभी प्रोटोकॉल का पालन करके मैन खुद को आइसोलेट कर लिया है मैं होम क्वारंटीन हूं मेरी सभी से गुजारिश है कि जो भी मेरे संपर्क में आये होंगे वह अपना कोरोना टेस्ट कराए और ध्यान रखे। सूर्यवंशी का है इंतज़ार अक्षय कुमार वर्कफ्रंट की बात करे तो एक्टर अक्षय कुमार एक के बाद एक नई फिल्मो में नज़र आने वाले है अक्षय कुमार के पास फिल्मो की लंबी लिस्ट है फैंस को अपकमिंग फिल्म सूर्यवंशी का इंतज़ार है इस फ़िल्म में कैटरीना कैफ के साथरोमांस करते नज़र आये इस फ़िल्म में अक्षय कुमार के साथ अजय देवगन और  रणबीर सिंह भी लिड रोल में दिखाई देंगे इसके अलावा  बेलबॉटम, पृथ्वीराज, अतरंगी रे, बच्चन पांड़े रामसेतु में जल्द ही नज़र आने वाले है।



 197
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Fri/Apr 16, 2021, 03:19 AM - IST

South Goa / गोवा में बिना एनओसी... / गोवा/ गोवा में फ़िल्म, टीवी धारावाहिक और वेब सीरीज़ की सूटिंग से पहले अब एनओसी लेनी पड़ेगी। गोवा में फ़िल्म शूटिंग की अनुमति देने वाली नोडल एजेंसी के निर्माताओं को राज्य में बिना अनुमति शूटिंग करने को लेकर चेतावनी भी जारी कर दी है। इसके साथ ही फ़िल्म, टीवी व वेब सीरीज की शूटिंग भी राज्य में 14 अप्रेल से पूरी तरह बंद कर दी गई है। इसके चलते तमाम बड़ी फिल्मों समेत करीब सौ धारावाहिक प्रभावित हुए हैं। एंटरटेनमेंट सोसाइटी ऑफ गोवा ने इस बारे में स्पष्ट किया है कि बिना उसके कार्यालय से अनापत्ति प्रमाण पत्र हासिल किए गोवा राज्य में शूटिंग करना गैरकानूनी है। सोसाइटी ने कहा कि गोवा में शुटिंग करने के लिए फ़िल्म, टीवी व वेब सीरिज़ के बारे में पूरी सूचना सोसाइटी में दर्ज होना जरूरी है। बिना प्रमाण पत्र हासिल किए गोवा में शूटिंग करने वाले के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए



 43
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Sat/Apr 17, 2021, 03:45 AM - IST

Mumbai / कार्तिक आर्यन के... / मुंबई/ कार्त‍िक आर्यन को स्क्रिप्ट में काफी समस्याएं थीं। जिसके बाद चीजें खराब हुईं। अब इस फिल्म के लिए दो नेशनल अवॉर्ड विनिंग एक्टर्स विक्की कौशल (Vicky Kaushal) और राजकुमार राव (Rajkummar Rao) के नाम सामने आ रहे हैं। करण जौहर (Karan Johar) की फिल्म दोस्ताना- 2 (Dostana- 2) से एक्टर कार्त‍िक आर्यन (Kartik Aaryan) को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। अपने प्रोजेक्ट से रिप्लेस करने के बाद अब करण इस प्रोजेक्ट के लिए दूसरे लीड एक्टर की तलाश में जुट गए हैं। खबरें हैं कि प्रोडक्शन हाउस को एक्टर का बर्ताव पसंद नहीं आ रहा है। कहा ऐसा भी जा रहा है कि कार्तिक आर्यन को स्क्रिप्ट में काफी समस्याएं थीं। जिसके बाद चीजें खराब हुईं। अब इस फिल्म के लिए दो नेशनल अवॉर्ड विनिंग एक्टर्स के नाम सामने आ रहे हैं। करण जौहर की फिल्म दोस्ताना- 2 के लिए विक्की कौशल और राजकुमार राव का नाम सामने आ रहे हैं। विक्की कौशल की फिल्म में एंट्री हो सकती हैं और अगर विक्की के साथ बात नहीं बनती है तो फिल्म में राजकुमार राव नजर आ सकते हैं। खबर ये भी है कि फिल्म की 50 प्रतिशत शूटिंग मुंबई और चंडीगढ़ में पूरी हो गई थी। पहले फिल्म की शूटिंग लंदन में होने वाली थी। लेकिन फिर कोविड की वजह से स्टार्स ट्रैवल करने से डर रहे थे। जिस वजह से भारत में ही फिल्म की शूटिंग पूरी की गई। कार्तिक को फिल्म से बाहर करने के बाद मेकर्स ने एक स्टेटमेंट जारी किया है। इस स्टेटमेंट में लिखा है, ‘प्रोफेशनल परिस्थितियों के कारण हमने एक गरिमापूर्ण मौन बनाए रखने का फैसला किया है। हम कोलिन डी’ कुन्हा द्वारा निर्देशित इस फिल्म पर हम जल्द ही नई कास्ट के साथ घोषणा करेंगे। कृपया जल्द ही आधिकारिक घोषणा की प्रतीक्षा करें.’



 116
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Tue/Apr 20, 2021, 12:17 PM - IST

New Delhi / 22 बार अपने नाम... / Delhi/ वॉल्ट डिज्नी को 20वीं सदी के सबसे क्रिएटिव, इनोवेटिव और प्रतिभाशाली लोगों में गिना जाता है। वे एक साथ एनीमेटर, व्यायस एक्टर और फिल्म प्रोड्यूशर थे। कार्टून की दुनिया में उनका कोई सानी नहीं है। 22 ऑस्कर के साथ फिल्म प्रोड्यूशर के रूप में सबसे अधिक अकादमी अवार्ड जीतने का रिकॉर्ड भी उन्हीं के नाम है। हालांकि आपको यह जानकर हैरानी होगी कि शुरुआती करियर में उन्हें एक अखबार ने यह कहकर नौकरी से निकाल दिया था कि वे क्रिएटिव नहीं हैं और अपने काम में कल्पनाशीलता का उपयोग नहीं करते हैं।  पांच दिसंबर 1901 को शिकागो में जन्में वॉल्ट डिज्नी को बचपन से ही सबसे अलग और अनोखा शौक था, और वो था कार्टून बनाने का। वे हॉलीवुड कलाकार बनना चाहते थे, लेकिन ऐसा कभी नही हुआ। मात्र 19 साल की उम्र में उन्होनें अपनी कार्टून कंपनी खोल ली थी, लेकिन उनका एक भी कार्टून नही बिका और पैसे की कमी के चलते उनके पास किराये और खाने के पैसे भी नही थे, इसलिए उन्हे अपने दोस्तों के पास रहना पड़ता था। 22 साल की उम्र तक उनके पास खाने-पीने के पैसे भी नही थे, लेकिन वे पीछे नही हटे। हर जगह से उन्हें निराशा मिली न्यूजपेपर से भी उन्हें आलसी और निकम्मा बताकर निकाल दिया था। 25 साल की उम्र में उन्होने एक गैराज को स्टूडियो में तब्दील किया और पांच साल बाद उन्हें 'एलिस इन कार्टूनलैंड' और 'ओसवर्लड दि रेबिट' के ऐनिमेशन से पहली सफलता मिली। यह सफलता छोटी ही थी क्योंकि 1928 में ओसवर्लड दि रेबिट के उनके सहकर्मियों ने उनका साथ छोड़ दिया।  कार्टून बनाने के शौक के चलते एक दिन उन्होनें ट्रेन में मिक्की माउस  बनाया जो बाद में उनकी कंपनी का सिंबल भी बन गया। यही वो कार्टून है जिसने उन्हे दुनिया की सैर कराई इस कार्टून ने उन्हें रातों रात नाम और शोहरत दिलाई। उनका ये कार्टून आज तक हर उम्र के लोगो पर कब्जा जमाए हुए है। उन्होंने 22 बार ये अवॉर्ड अपने नाम किया है। मालूम हो कि इतने ज्यादा बार अवॉर्ड जीतने वाले वॉल्ट एकलौते शख्स हैं।



 71
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Tue/Apr 27, 2021, 02:48 AM - IST

Mumbai / दो जिग्री दोस्त... / मुंबई /मशहूर कलाकार जिनका नाम हर कोई आज भी अपनी जुबान पर लाता है,गुजरे जमाने के दो फेमस एक्टर विनोद खन्ना (Vinod Khanna) और फिरोज खान (Feroz Khan) की आज यानी मंगलवार को डेथ एनिवर्सिरी (27 अप्रैल) को है। इंडस्ट्री के इन दोनों जिगरी दोस्तों ने एक ही तारीख को दुनिया को अलविदा कहा था। हालांकि, फिरोज खान की डेथ 2009 में हुई, जबकि विनोद खन्ना ने 8 साल बाद 2017 में इसी दिन अंतिम सांस ली। इनकी दोस्ती के चर्चे बॉलीवुड में काफी फेमस। दोनों ने साथ में कई फिल्मों में काम किया था। दोनों की यादगार फिल्म है कुर्बानी। यह फिल्म ब्लॉकबस्टर रही थी। फिरोज खान और विनोद खन्ना दोनो की ही मौत कैंसर की वजह से हुई। फिरोज को फेफड़े का कैंसर था, वहीं विनोद खन्ना ब्लैडर कैंसर था। 1976 में आई फिल्म 'शंकर शंभू' में फिरोज खान और विनोद खन्ना एक साथ नजर आए। इस फिल्म में दोनों की जोड़ी को खूब पसंद किया गया था। 1980 में आई 'कुर्बानी' में भी दोनों साथ नजर आए। इसका डायरेक्शन फिरोज खान ने किया था। फिरोज खान और विनोद खन्ना के अलावा अमरीश पुरी, अमजद खान, जीनत अमान, कादर खान, शक्ति कपूर और अरुणा ईरानी जैसे एक्टर्स भी थे। फिल्म हिट साबित हुई और इसी फिल्म से दोनों की दोस्ती भी मजबूत हुई थी। 'कुर्बानी' के बाद फिरोज, विनोद को अपने प्रोडक्शन की अगली फिल्म जांबाज (1986) में भी कास्ट करना चाहते थे, लेकिन बाद में यह रोल अनिल कपूर ने निभाया। यह वह दौर था जब विनोद ओशो की शरण में चले गए थे और उनके आश्रम में माली का काम करते थे।ओशो आश्रम से जुड़े विवादों के बाद जब वे बॉलीवुड में अपनी दूसरी पारी शुरू करने के लिए तैयार थे। विनोद को बॉलीवुड में कमबैक करने में फिरोज ने मदद की थी। तब फिरोज ने उनके साथ दयावान (1988) साइन की। फिल्म में विनोद और माधुरी दीक्षित लीड रोल में थे। दोस्तों की जोड़ी ने 3 फिल्मों में साथ काम किया था। 27 अप्रैल, 2009 को लंग कैंसर से फिरोज खान का निधन हुआ तो 27 अप्रैल, 2017 को ब्लैडर कैंसर की वजह से विनोद खन्ना दुनिया छोड़ गए। विनोद खन्ना और फिरोज खान ये दोनों मशहूर कलाकार साथ ही साथ दो अच्छे दोस्त इन्होने अपने दोस्ती को आखिर तक निभाया और किस्मत से इन दोनों कि डेथ एनिवर्सरी आज यानि 27 अप्रेल को एक ही दिन है | ऐसे मशहूर कलाकारों को हम हमेशा याद करते रहेंगे |



 85
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Wed/Apr 28, 2021, 11:08 AM - IST

Mumbai / अलविदा सोशल मीडिया-... / मुंबई/ईशा गुप्ता बोली देश के ऐसे हालात अब नहीं देख सकती। कोरोना वायरस की वजह से देश में बने गंभीर हालातों को देखना हर किसी के लिए अब मुश्किल होता जा रहा है। सोशल मीडिया पर हर तरफ लोगों की दर्द में चिल्लाते हुए वीडियो या फोटोज को देखकर आम लोगों के साथ बॉलीवुड सितारे सदमें में आ गए है। इसी वजह से बॉलीवुड एक्ट्रेस ईशा गुप्ता ने कुछ दिनों तक सोशल मीडिया छोड़ने का फैसला किया है। ईशा का कहना है कि देश में इस वक्त जो हालात बने हुए वो उन्हें बहुत तकलीफ दे रहे हैं वो इस स्तिथि को और नहीं झेल पा रही है। इसलिए कुछ दिन उनका सोशल मीडिया उनकी टीम संभालेगी। ईशा ने ये पोस्ट अपने इंस्टाग्राम की स्टोरी पर शेयर की थी। जिसमें उन्होंने घोषणा की थी कि, हम सब इसमें साथ हैं। इस वक्त देश के जो हालात हैं वो देखकर मेरे परिवार ने कुछ जरूरी सामान और बैड्स लोगों को मुहैया कराए हैं। लेकिन रोज देश के ऐसे हालात देखना बहुत तकलीफ दे रहा है। मैं दुआ करती हूं कि जो भी लोग ये पढ़ रहे हैं वो स्वस्थ रहे हैं, आपके परिवार की सुरक्षा के लिए दुआ करती हूं। मैं सोशल मीडिया से दूर जा रही हूं, लेकिन आप लोग प्लीज जीतनी भी जरूरी और पुख्ता जानकारियां हैं वो शेयर करते रहें ताकी मेरी टीम उन्हें आगे शेयर करती रहेगी। अपना ख्याल रखें और दूसरे की मदद करें।  कोरोना वायरस की वजह से देश में बने गंभीर हालातों को देखना हर किसी के लिए अब मुश्किल होता जा रहा है। सोशल मीडिया पर हर तरफ लोगों की दर्द में चिल्लाते हुए वीडियो या फोटोज को देखकर आम लोगों के साथ बॉलीवुड सितारे सदमें में आ गए है। इसी वजह से बॉलीवुड एक्ट्रेस ईशा गुप्ता ने कुछ दिनों तक सोशल मीडिया छोड़ने का फैसला किया है। देश के ऐसे हालात अब नहीं देख सकती अस्पलातों में लोगों का बेड और ऑक्सीजन नहीं मिल पाने की वजह से हर रोज हजारों लोगों की जान जा रही है। 



 103
 0

Read More

Bollywood

More...
By  Newssyn Team
posted : Tue/Oct 27, 2020, 03:18 AM - IST

अपने रिसेप्शन में... / पंजाब, सिंगर नेहा कक्कड़ और रोहनप्रीत ने 24 अक्टूबर को शादी कर ली है, यह शादी दिल्ली के गुरुद्वारे में हुई जिसकी विडियो और तस्वीरें शोसल मीडिया में खूब वाइरल हो रही है। बता दें कि शादी के कुछ दिन पहले ही नेहा-रोहनप्रीत का म्यूजिक सिंगल नेहु डा ब्याज भी रिलीज हुआ है। शादी के रस्मों में से एक अनोखा अंगूठी रस्म का विडियो भी शोसल मीडिया में बना हुआ है जिसमें नेहा कक्कड़ ये रस्म जीतकर चिल्लाती हुई नज़र आईं। नेहा का उनके ससुराल यानि रोहनप्रीत के घर पर जोरदार स्वागत हुआ, साथ ही कपल ने गाना रस्म भी किया। नेहा कक्कड़ और रोहनप्रीत ने सोमवार को रिसेप्शन पार्टी पंजाब में दी, जहां कपल ने पंजाबी गानों पर डांस भी किया। इसी के साथ वेडिंग रिसेप्शन में नेहा व्हाइट लहंगे में बहुत ही खूबसूरत लूक में नज़र आयीं साथ ही डायमंड एवं ग्रीन एमराल्ड से जाड़ा नेकपीस, ईयरिंग और हाथों में रिंग, कंगन व माथे पर सिंदूर भी उन पर खूब जँच रहे थे। उनके वेडिंग रिसेप्शन में प्रसिद्ध पंजाबी गायक Mankirt Aulakhभी पहुंचे। नेहा-रोहनप्रीत की इस जोड़ी को शोसल मीडिया पर खूब सराहा जा रहा है एवं फैंस के बीच उनकी शादी और रिसेप्शन की ये विडियो खूब वाइरल हो रहा है।  



 694
 1

Read More

By  Avinash...
posted : Sun/Jan 17, 2021, 01:22 AM - IST

Bilāspur / कुत्सित मानसिकता,... / कोरोना महामारी के सादृश्य ही वेब सीरीज का संक्रमण भी लॉकडाउन के समय भरपूर फैला। वेब सीरीज की कथा कुछ भी हो लेकिन उसमें हिंदुओं देवी, देवताओं और उनके आराध्यों का अपमान करना एक फैशन सा बनता जा रहा है। अभी हाल ही में रिलीज हुई अमेज़न प्राइम की वेब सीरीज तांडव में भगवान श्रीराम और भगवान शिव का अपमान किया गया। ये वेब सीरीज एक ऐसे समय में आई है जब अयोध्या में भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर बनने के लिए निधि समर्पण अभियान चल रहा है। ऐसे में इस प्रसंग को मज़ाक बनाते हुए ‘तांडव’ में बहुत ही असभ्य ढंग से प्रस्तुत किया गया है। ये हाल किसी एक वेब सीरीज का नहीं है ऐसी बहुत सी वेब सीरीज हैं जो फैशन के तौर पर हिन्दू देवी देवताओं और उनके आराध्यों का अपमान करने से नहीं चुकती हैं। क्या किसी अन्य धर्म के खिलाफ ऐसा होता है? जवाब मिलेगा नहीं। तांडव वेब सीरीज पूरी तरह से प्रोपेगैंडा का अगला कदम मीडिया फ्रेमिंग की तर्ज पर काम करता नजर आता है। वेब सीरीज तांडव को अली अब्बास जफर ने निर्देशित किया है। इस वेब सीरीज में पूरी तरह से हिन्दू धर्म के रिश्ते नातों को भी तार-तार करते दिखाया है जिसमें सैफ अली खान सत्ता पाने के लिए अपने पिता की हत्या कर देता है। तो वहीं मुस्लिम समुदाय को डरा कुचला और शोषित दिखाने का भरपूर प्रयास किया गया है। आज पूरा विश्व और हिन्दू समाज मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के आदर्शों को उत्कृष्ट मानते हुए उनके भव्य मंदिर निर्माण के लिए प्रगतिशील है। भारत वह देश हैं जहां पिता की आज्ञा पालन के लिए भगवान श्रीराम चौदह वर्ष का वनवास हर्ष के साथ स्वीकार कर लेते हैं तो वहीं जफर जैसे कुछ निर्देशक मुगलों और तुर्कों की सत्ता लोलुपता के लिए पिता की हत्या को हिन्दू समाज के माथे पर आरोपित करने का प्रयास करते नजर आते हैं। हिन्दू समाज में वीर शिवाजी, महारणा प्रताप जैसे प्रतापी वीर हुआ करते हैं जो लालच तो दूर अपनी आन के लिए भी अपनी जान देने से पीछे नहीं हटते। तांडव वेब सीरीज हिन्दू धर्म के प्रति घृणा भरने का एक कुत्सित प्रयास भर नजर आता है। वेब सीरीज में सवर्ण-दलित, हिन्दू-मुसलमान, क्षेत्रवाद, अर्बन नक्सलवाद जैसे प्रोपेगैंडा को चलाने का प्रयास भी किया गया है। वेब सीरीज में भारत के टुकड़े-टुकड़े करने वाले गैंग का भी महिमा मंडन किया गया है। इसमें पूरी मंशा के साथ आजादी आजादी के नारे लगवाते समय धीरे से मनुवाद और ब्राह्मणवाद से आजादी के नारे भी मंशापूर्ण ढंग से लगवाए जाते हैं। वेब सीरीज के ही एक पात्र ने वामपंथियों की मनगढ़ंत कहानी ‘सदियों से अत्याचार’ को प्रमाणित करने का असफल प्रयास भी किया। पूरी तांडव वेब सीरीज में घृणा का जहर और हिंदुओं के बीच दीवार खींचने का एक प्रयास भर है। तांडव में मोहम्मद जीशान को भगवान शिव का छद्म वेश बनाकर उनको अपमानित करने का काम वेब सीरीज करती हुई दिखाई पड़ती है। वेब सीरीज में प्रधानमंत्री मोदी के नए भारत की संकल्पना को भी मनगढ़ंत कहानियों के दम पर खारिज करने का प्रयास किया गया है। वर्तमान परिदृश्य और कहानी की पटकथा को देखते हुए इसको रिलीज करने की टाइमिंग पर भी सवाल उठता है। कहानी में मुसलमानों को किसान दिखाया जाता है और ये स्थापित करने का प्रयास किया जाता है कि ये ही हैं जो देश का पेट भरते हैं और इन्हें आतंकवादी कहकर सरकार गोली मार देती है। जबकि अगर आंकड़ों की बात करें तो समुदाय विशेष की किसानी करने वाली आबादी भी देश में न के बराबर है। वेब सीरीज अप्रत्यक्ष रूप से आतंकवादियो के मारे जाने पर भी सवाल खड़े करते हुए एक समुदाय विशेष का बचाव करते हुए नजर आती है। वेब सीरीज तांडव षड्यंत्र और वैमनस्यता का एक मिश्रण है जिसमें हिन्दू धर्म और उसके मूल्यों को आलोचनात्मक ढंग से प्रस्तुत किया गया है। भारत में लगभग वेब सीरीज हिन्दू धर्म और उनके आराध्यों को निशाना बनाकर बनाई जाती है। इसके निर्मता और निर्देशक का एक बड़ा हिस्सा वामपंथी विचारों को मनाने वाले कथित नास्तिक होते हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या एक नास्तिक या कथित सेक्युलर को ये अधिकार प्राप्त है कि वो हिन्दू धर्म को अपमानित करने का कार्य करे? क्या इस तरह की वेब सीरीज पर सरकार को बैन नहीं लगाना चाहिए?     लेखक अविनाश त्रिपाठी एम. ए., एम. फिल., पी-एच.डी. शोधार्थी पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग



 453
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Fri/Feb 12, 2021, 06:18 AM - IST

Azamgarh / सत्यमानो फिल्म... / किसी चीज को पाने की इच्छा शक्ति हो तो बड़ी से बड़ी परेशानियाँ दम तोड़ देती है। लघु फ़िल्म “कोंपल” की कहानी इसी विषय को अपने में समेटे है। हाल में ही आजमगढ़ जिले के हाफिजपुर में सत्यमानो फिल्म प्रोडक्शन के अंतर्गत स्थानीय कलाकारों द्वारा इस फ़िल्म का फिल्मांकन किया गया। फिल्‍म के निर्माता अशेष सिंह, निर्देशक एवं लेखक राम सूरत, सिनेमैटोग्राफी पंकज कुमार, कार्यकारी निर्माता ब्रिजेश कुमार सिंह एवं शफ़कत रफ़ीक हैं। निर्देशक राम सूरत इससे पूर्व “हल” और “अज़ीज़” लघु फ़िल्मों का निर्माण कर चुके हैं। जो कई राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्म समारोहों में प्रदर्शित एवं सम्मानित की गई है। कोंपल फ़िल्म में मुख्य कलाकार की भूमिका में शौर्य सिंह, प्रमिता सिंह, प्रांजल गुप्ता, अनुपमा सिंह और प्रभु नारायण पांडेय (प्रेमी) ने भूमिका निभाई है।



 528
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Thu/Apr 01, 2021, 01:35 AM - IST

New Delhi / सुपरस्टार रजनीकांत... / नई दिल्ली/केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने गुरुवार को दादा साहेब फाल्के पुरस्कार का ऐलान किया इस बार दादा साहेब फाल्के पुरस्कार के लिए साऊथ के सुपरस्टार रजनीकांत को नवाजा जायेगा. स्टोरी हाईलाइट रजनीकांत को किया जाएगा  दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित रजनीकांत का जलवा पिछले 50 साल से कायम केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने गुरुवार को दादा साहेब फाल्के पुरस्कार का ऐलान किया की इस बार दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सुपरस्टार रजनीकांत को नवाजा जाएगा. सिनेमा की दुनिया मे पिछले 5 दशक से कर रहे राज रजनीकांत प्रकाश जावड़ेकर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि हमे खुशी है कि देश के सभी भागों से फिल्मकार,अभिनेता,अभिनेत्री,गायक संगीतकार सभी लोगो  को समय समय पर दादा साहेब फाल्के पुरस्कार मिला है  आज इस साल का दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से महान नायक रजनीकांत को घोषित करते हुए हमें बहुत खुशी है रजनीकांत पिछले 5 दशक से सिनेमा के दुनिया पर राज कर रहे है और साथ ही लोगो का मनोरंजन कर रहे है यही  कारण है कि इस बार दादा साहेब फाल्के की ज्यूरी ने रजनीकांत को ये पुरस्कार देने का फैसला लिया गया है 5 लोगो की ज्यूरी से एकमत फैसला इस साल ये सिलेक्शन ज्यूरी ने किया है इस ज्यूरी ने आशा भोसले,मोहनलाल,विश्वजीत चटर्जी, शंकर महादेवन और शुभाष घई इन पांचो को ज्यूरी ने बैठक करके एक राय  से महानायक रजनीकांत को दादा साहेब फाल्के पुरस्कार की शिफारिश की.प्रकाश जावड़ेकर कर ने आगे और कहा कि रजनीकांत अपनी प्रतिभा मेहनत और लगन से ये स्थान लोगो के दिलो में आपने स्तान बना लिया है और उन्होंने यह भी कहा कि यह उनका गौरव है दादा साहेब फाल्के पुरस्कार  इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि दादा  साहेब फाल्के ने अपनी पहली सिनेमा 1913 में राजा हरीशचंद्र बनाया था राजा हरीशचंद्र की यम फ़िल्म पहली चित्रपट महर्षि कहलाने लगे और  उसके बाद दादा साहेब फाल्के मृत्यु के बाद यह  पुरस्कार उनके नाम से रखा गया  रजनीकांत की यह फेमस फिल्मे  रजनीकांत ने अपने हर किरदार में जान डाल देते है एक से एक बधकर फिल्मो में काम किया है साउथ से लेकर बॉलीवुड तक रजनीकांत ने आपने किरदार से उनका जलवा अभी तक कायम है रजनीकांत की फेमस फिल्मो की बात करे तो  दरबार, 2.0 द रोबोट,त्यागी चालबाज, कबाली, दोस्ती दुश्मनी, इंसाफ कौन करेगा, अंधा कानून के सारे फिल्मो में काम किया है  और आपने हर किरदार में जान डाल देते है.



 183
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Mon/Apr 05, 2021, 12:39 PM - IST

Mumbai / अक्षय कुमार को हुआ... / महाराष्ट्र/पवई बॉलीवुड के सुपरस्टार अक्षय कुमार को फैंस बीते दिन से उनकी सेहत को  लेकर चिंतित थे और ऐसी भी एक परेशान करने वाली खबर सामने आई है अक्षय कुमार COVID-19 पॉजिटिव पाए जाने के बाद उनकी हालत बिघड गई है उन्हें हॉस्पिटल में एडमिट किया गया। इस हॉस्पिटल में है अक्षय कुमार खबर के अनुसार सोमवार की सुबह अक्षय कुमार को पवई स्थित हीरानंदानी हॉस्पिटल एडमिट किया गया है  अक्षय कुमार ने अपनी कोरोना संक्रमित होने की खबर ट्विटर से दी है उन्होंने  कहा कि आपकी शुभकामनाएं और प्राथना के लिए शुक्रिया है ठीक हु सावधानी बरकतें हुए मेडिकल एडवाइस मेले के लिए एडमिट हुआ हु उम्मीद है जल्द ही वापस घर वापस आऊंगा आपन अपना ध्यान रखना COVID-19 रिपोर्ट की जानकारी फैंस की शेअर की थी उन्होंने शोसल मीडिया पर एक पोस्ट लिखी थी मैं यह सूचित करना चाहता हु की मेरी  COVID-19 टेस्ट पॉजिटिव आई है सभी प्रोटोकॉल का पालन करके मैन खुद को आइसोलेट कर लिया है मैं होम क्वारंटीन हूं मेरी सभी से गुजारिश है कि जो भी मेरे संपर्क में आये होंगे वह अपना कोरोना टेस्ट कराए और ध्यान रखे। सूर्यवंशी का है इंतज़ार अक्षय कुमार वर्कफ्रंट की बात करे तो एक्टर अक्षय कुमार एक के बाद एक नई फिल्मो में नज़र आने वाले है अक्षय कुमार के पास फिल्मो की लंबी लिस्ट है फैंस को अपकमिंग फिल्म सूर्यवंशी का इंतज़ार है इस फ़िल्म में कैटरीना कैफ के साथरोमांस करते नज़र आये इस फ़िल्म में अक्षय कुमार के साथ अजय देवगन और  रणबीर सिंह भी लिड रोल में दिखाई देंगे इसके अलावा  बेलबॉटम, पृथ्वीराज, अतरंगी रे, बच्चन पांड़े रामसेतु में जल्द ही नज़र आने वाले है।



 197
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Fri/Apr 16, 2021, 03:19 AM - IST

South Goa / गोवा में बिना एनओसी... / गोवा/ गोवा में फ़िल्म, टीवी धारावाहिक और वेब सीरीज़ की सूटिंग से पहले अब एनओसी लेनी पड़ेगी। गोवा में फ़िल्म शूटिंग की अनुमति देने वाली नोडल एजेंसी के निर्माताओं को राज्य में बिना अनुमति शूटिंग करने को लेकर चेतावनी भी जारी कर दी है। इसके साथ ही फ़िल्म, टीवी व वेब सीरीज की शूटिंग भी राज्य में 14 अप्रेल से पूरी तरह बंद कर दी गई है। इसके चलते तमाम बड़ी फिल्मों समेत करीब सौ धारावाहिक प्रभावित हुए हैं। एंटरटेनमेंट सोसाइटी ऑफ गोवा ने इस बारे में स्पष्ट किया है कि बिना उसके कार्यालय से अनापत्ति प्रमाण पत्र हासिल किए गोवा राज्य में शूटिंग करना गैरकानूनी है। सोसाइटी ने कहा कि गोवा में शुटिंग करने के लिए फ़िल्म, टीवी व वेब सीरिज़ के बारे में पूरी सूचना सोसाइटी में दर्ज होना जरूरी है। बिना प्रमाण पत्र हासिल किए गोवा में शूटिंग करने वाले के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए



 43
 0

Read More

Hollywood

More...
By  Public Reporter
posted : Tue/Apr 20, 2021, 12:17 PM - IST

New Delhi / 22 बार अपने नाम... / Delhi/ वॉल्ट डिज्नी को 20वीं सदी के सबसे क्रिएटिव, इनोवेटिव और प्रतिभाशाली लोगों में गिना जाता है। वे एक साथ एनीमेटर, व्यायस एक्टर और फिल्म प्रोड्यूशर थे। कार्टून की दुनिया में उनका कोई सानी नहीं है। 22 ऑस्कर के साथ फिल्म प्रोड्यूशर के रूप में सबसे अधिक अकादमी अवार्ड जीतने का रिकॉर्ड भी उन्हीं के नाम है। हालांकि आपको यह जानकर हैरानी होगी कि शुरुआती करियर में उन्हें एक अखबार ने यह कहकर नौकरी से निकाल दिया था कि वे क्रिएटिव नहीं हैं और अपने काम में कल्पनाशीलता का उपयोग नहीं करते हैं।  पांच दिसंबर 1901 को शिकागो में जन्में वॉल्ट डिज्नी को बचपन से ही सबसे अलग और अनोखा शौक था, और वो था कार्टून बनाने का। वे हॉलीवुड कलाकार बनना चाहते थे, लेकिन ऐसा कभी नही हुआ। मात्र 19 साल की उम्र में उन्होनें अपनी कार्टून कंपनी खोल ली थी, लेकिन उनका एक भी कार्टून नही बिका और पैसे की कमी के चलते उनके पास किराये और खाने के पैसे भी नही थे, इसलिए उन्हे अपने दोस्तों के पास रहना पड़ता था। 22 साल की उम्र तक उनके पास खाने-पीने के पैसे भी नही थे, लेकिन वे पीछे नही हटे। हर जगह से उन्हें निराशा मिली न्यूजपेपर से भी उन्हें आलसी और निकम्मा बताकर निकाल दिया था। 25 साल की उम्र में उन्होने एक गैराज को स्टूडियो में तब्दील किया और पांच साल बाद उन्हें 'एलिस इन कार्टूनलैंड' और 'ओसवर्लड दि रेबिट' के ऐनिमेशन से पहली सफलता मिली। यह सफलता छोटी ही थी क्योंकि 1928 में ओसवर्लड दि रेबिट के उनके सहकर्मियों ने उनका साथ छोड़ दिया।  कार्टून बनाने के शौक के चलते एक दिन उन्होनें ट्रेन में मिक्की माउस  बनाया जो बाद में उनकी कंपनी का सिंबल भी बन गया। यही वो कार्टून है जिसने उन्हे दुनिया की सैर कराई इस कार्टून ने उन्हें रातों रात नाम और शोहरत दिलाई। उनका ये कार्टून आज तक हर उम्र के लोगो पर कब्जा जमाए हुए है। उन्होंने 22 बार ये अवॉर्ड अपने नाम किया है। मालूम हो कि इतने ज्यादा बार अवॉर्ड जीतने वाले वॉल्ट एकलौते शख्स हैं।



 71
 0

Read More

By continuing to use this website, you agree to our cookie policy. Learn more Ok